Breaking news

कैप्टन अमरिंदर की दो टूक : केपी को बहुत पद मिले, अब सब्र भी रखें



 लोकसभा चुनाव को लेकर जालंधर का सियासी माहौल भी गरमाया हुआ है। खासतौर पर जब से जालंधर लोकसभा सीट से कांग्रेस ने चौधरी संतोख को उम्मीदवार बनाया है। इस सीट से कांग्रेस के अपने ही दिग्गज नेता मोहिंदर सिंह केपी बागी हुए पड़े हैं।

केपी का साफ कहना है कि टिकट के वह हकदार थे लेकिन हाईकमान ने चौधरी को टिकट देकर उनका राजनीतिक कत्ल किया है। आज केपी को एक और तगड़ा झटका तब लगा जब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दो टूक शब्दों में कहा कि केपी बहुत पदों पर आसीन हो चुके हैं अब उन्हें सब्र करना चाहिए। कैप्टन ने कहा कि केपी पंजाब प्रदेश प्रधान, सांसद व बहुत बार मंत्री रह चुके हैं और अगर हाईकमान ने किसी और का चुनाव किया है तो केपी सब्र रखें। उधर, एक अन्य घटनाक्रम में पंजाब सफाई मजदूर फेडरेशन के प्रधान चंदन ग्रेवाल कांग्रेस में शामिल हो गए।

कट न मिलने से नाराज चल रहे पूर्व सांसद मोहिंदर सिंह केपी ने कांग्रेस की मुश्किल बढ़ाने के पैंतरे अपनाने शुरू कर दिए हैं। केपी ने कांग्रेस में टिकट की खरीद-फरोख्त किए जाने का आरोप लगाते हुए १५ अप्रैल को चंडीगढ़ में दलित पंचायत बुलाई है। केपी ने कहा है कि जितने भी अनुसूचित जाति से संबंधित नेता टिकट वितरण में नजरअंदाज किए गए हैं वह सब १५ अप्रैल को चंडीगढ़ में मीटिंग करके अगली रणनीति तय करेंगे। केपी ने कहा कि सभी नाराज नेता चुनाव में उतर सकते हैं।


Translate »