Breaking news

पिकनिक के दौरान 10वीं की छात्रा ने चलाई एयरगन, दूसरी के छात्र की गई जान



 

  • भदौड़ स्थित लाला लाजपत राय आर्य मॉडल सीनियर सेकंडरी स्कूल में बुधवार दोपहर साढ़े 12 बजे घटी थी घटना
  • फिरोजपुर की हरीश अरोड़ा एंड कंपनी ने किया था पिकनिक का आयोजन, नहीं ली गई स्कूल की तरफ से प्रशासनिक अनुमति
  • डीसी ने कहा-जांच रिपोर्ट के आधार पर स्कूल की मान्यता रद्द करने के लिए डीजीएसई और शिक्षा सचिव को लिखेंग

बरनाला. बरनाला के एक स्कूल में पिकनिक के दौरान बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां पिकनिक के दौरान एक लड़की ने एयरगन से एक लड़के को शूट कर दिया। दूसरी कक्षा के इस छात्र को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। घंटाें बाद आखिर वह जिंदगी की जंग हार गया। अब स्कूल की मान्यता रद्द किए जाने की बात की जा रही है।

घटना भदौड़ स्थित लाला लाजपत राय आर्य मॉडल सीनियर सेकंडरी स्कूल में बुधवार दोपहर में घटी। मिली जानकारी के अनुसार फिरोजपुर की हरीश अरोड़ा एंड कंपनी ने स्कूल में पिकनिक का आयोजन किया था। करीब साढ़े 12 बजे यहां एक छात्रा ने एयरगन चलाई तो इससे दूसरी कक्षा में पढ़ने वाला सात वर्षीय जसवीर सिंह घायल हो गया। आनन-फानन में जसवीर को अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां घंटों जिंदगी-मौत की लड़ाई लड़ते हुए रात करीब 2 बजे उसने दम तोड़ दिया।

इस बारे में स्कूल की प्रिंसिपल सुरेश प्रभा ने बताया पिकनिक में दसवीं की छात्रा ने एयरगन चलाई तो बच्चा सामने आ गया और गोली उसके गले व गर्दन के बीच में लगी। इस घटना के सामने आने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी ने जांच कमेटी नियुक्त कर दी है। वहीं पुलिस अपने स्तर पर ही केस की जांच में जुट गई है। पुलिस ने वीरवार को स्कूल प्रिंसिपल, शिक्षकों व प्रबंधकों के बयान ले लिए हैं। हादसे के बाद इवेंट कंपनी के कारिंदे भाग गए।

ये थी स्कूल की लापरवाही

इस घटना में स्कूल की लापरवाही सामने आई है। विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक एक तरफ पिकनिक के लिए स्कूल प्रिंसिपल ने शिक्षा विभाग से इजाजत नहीं ली थी। दूसरा घटना के 24 घंटे बाद भी स्कूल प्रिंसिपल सुरेश प्रभा और मैनेजर भूषण कुमार ने इसकी जानकारी न तो पुलिस को दी और न ही जिला शिक्षा अधिकारी को। जब यह मामला डीसी तेज प्रताप सिंह फूलका के संज्ञान में आया तो उन्होंने कहा कि डीईओ की जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। स्कूल की मान्यता रद्द करने के लिए डीजीएसई और शिक्षा सचिव को पत्र लिखकर सिफारिश करेंगे।

 

Source link


Translate »